भाभी के साथ बरसात में घनघोर चुदाई




loading...

मैं पिछले कई सालों से इसका नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती तब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। ये मेरी जिन्दगी की सच्ची घटना है।

मेरा घर लखनऊ में पड़ता है। उस दिन मेरे बड़े महेश भैया को बंगलौर जाना था। भैया के कम्पनी वाले उनको बैंगलोर किसी जरूरी काम से भेज रहे थे। मैं उनको बाइक पर ले गया और रेलवे स्टेशन छोड़ आया। जब ट्रेन चलने लगी तो भैया बोले “अपनी भाभी का ख्याल रखना” और ट्रेन चली गयी। मैं दोपहर तक घर आ गया था। दोस्तों मेरी अंजली भाभी की शादी अभी 2 साल पहले ही हुई थी। उनका रंग काफी साफ़ था और जिस्म बिलकुल भरा हुआ था। जिस दिन मेरे महेश भैया की शादी हुई थी उसी दिन से मैं अपनी सेक्सी अंजली भाभी से मन ही मन प्यार करने लगा था। रात में महेश भैया अंजली भाभी को नंगा करके जमकर उनकी चूत मारते थे। असल में मेरा कमरा बड़े भैया के कमरे के बगल था। मैं रात में पढता रहता था पर मेरी चुदासी भाभी की “अई…..अई….अई… अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…” की आवाज मुझे सोने नही देती थी।

मैं समझ जाता था की अंदर कमरे में भैया भाभी को नंगा करके उसकी रसीली चूत चोद रहे है। इस तरह की कामुक आवाजे मेरा ध्यान पढाई से बिलकुल हटा देती थी। दोस्तों मेरा तो पढने का मन ही नही होता था। मैं अपनी पेंट खोल कर लंड को हाथ में ले लेता था और मुठ मारने लगा जाता था। इस तरह से 2 साल बीत गये थे। सुबह जब भाभी आंगन में नहाने जाती थी मैं अपने कमरे ही खिड़की से छुपकर देखा करता था। भाभी के नंगे भरे गोरे जिस्म को देखकर मेरी नियत खराब हो जाती थी। मन करता था की उनको पकड़ के अंदर ले जाऊँ और कमरे में कसके चोद लूँ। कुछ दिन गुजर गये थे। मेरे बड़े भैया का फोन बैगलोर से आता रहता था। अंजली भाभी उनसे बात करा करती थी। अब घर में मैं और भाभी अकेले रह गये थे। एक दिन भाभी छत पर गेंहू सुखा रही थी। उन्होंने गुलाबी रंग की साड़ी पहन रखी थी। अंजली भाभी बहुत सेक्सी और हॉट माल लग रही थी। फिर अचानक से बारिश होने लगी।

“देवर जी…..जल्दी आओ। गेंहू उठाओ आकर वरना सब भीग जाएगा!!” अंजली भाभी बोली

मैं दौड़कर छत पर गया। पर जब तक हम देवर भाभी गेंहू बटोर पाते पानी और तेज हो गया और झमाझम बारिश होने लगी। फिर तो तूफान आ गया था। चारो तरफ से मुसलाधार बारिश होने लगी। हवा के थपेड़े मुझे और मेरी अंजली भाभी को धकेल रहे थे। अचानक एक तेज हवा का झोंका आया और अंजली भाभी की साड़ी का पल्लू उड़ गया। उन्होंने बहुत ही गहरे गले का ब्लाउस पहन रखा था। हम दोनों पूरी तरह से भीग चुके थे। मेरी नजर अंजली भाभी के शानदार मम्मो पर चली गयी। मैं उनके बूब्स को ताड़ने लगा। दोस्तों कुछ देर बाद तो अंधी इतनी तेज हो गयी की आपको मैं क्या बताऊं। हवा के एक तेज झोंके ने भाभी को गिराना चाहा पर मैंने उनको जल्दी से पकड़ लिया। फिर अचानक जोर की बिजली चमकी और बादल फटने की आवाज आई। मेरी भाभी डर गयी। वो बिजली की आवाज से बहुत डरती थी। “आह…. ” की चीख के साथ वो मेरे सीने से चिपक गयी।

फिर मैं खुद को रोक ना सका और बारिश के ठंडे पानी में भीगे और अंगूर की तरह दिख रहे भाभी के होठ पर मैंने अपने होठ रख दिए और जल्दी जल्दी चूसने लगा। दोस्तों उस दिन की याद आज भी मेरे दिमाग में कैद है। एक एक पल, एक एक बात मुझे याद है। भाभी के होठ मैं चूसने लगा। शायद आज वो भी मुझसे चुदाने के मूड में थी। मैंने अपना सीधा हाथ उसकी कमर में डाल दिया था। बारिश के ठंडे पानी में आज मेरी अंजली भाभी बिलकुल मलिका जैसी लग रही थी। मुझे कोई फिक्र नही थी समाज और दुनिया की। आज मैं अपनी भाभी को कसके चोद लेना चाहता था। मैंने बारिश के इस सेक्सी रोमांटिक मौसम में अपना सीधा हाथ भाभी की कमर में डाल दिया और अपनी तरह जोर से खीचा। वो मेरे सीने से चिपक गयी। उसके बाद तो दोस्तों मैं खड़े खड़े अपनी चुदासी सेक्सी भाभी के होठ चूसने लगा।

आपको कैसे बताऊँ की मुझे कितना मजा आया था। मैं पुरे जोश से भाभी के गुलाबी होठ चूस रहा था। कितने मीठे और नर्म होठ थे उनके। वो भी पूरा सहयोग कर रही थी। आसमान में चारो तरह काले काले बादल थे। मौसम बहुत ठंडा और सेक्सी था। फिर मैंने अंजली भाभी को बाँहों में भर लिया और उनके गाल, आँखें, माथे, और गले पर मैं चुम्मा लेने लगा। धीरे धीरे मैं उनकी पीठ को सहला रहा था। उसके बाद हम दोनों करीब 10 मिनट तक एक दूसरे को बाहों में लपेटे रहे। तभी फिर से बिजली जोर से गरजी और अंजलि भाभी एक बार फिर से मेरे सीने से चिपक गयी। फिर हम दोनों किस करने लगा।

“भाभी!! चूत दोगी???” मैंने धीरे से फुसफुसाकर उनके कान में बोला

वो खामोश रही और कुछ नही बोली। मैं समझ गया की भाभी आज मुझे अपनी रसीली [चूत] दे देंगी। मैंने भाभी को छत पर ही लिटा दिया। फिर हम दोनों लेट गये। दोस्तों बारिश तेज हो रही थी। हम दोनों पानी से पूरी तरह से भीग गये थे। मौसम बहुत सेक्सी और रोमांटिक हो गया था। मैंने धीरे धीरे अंजली भाभी के ब्लाउस की बटन खोलना शुरू कर दी। वो चुप थी, शांत थी। मैं समझ गया की उनका भी चुदने का मन है। फिर मैंने ब्लाउस खोल लिया। उन्होंने ब्लाउस के कपड़े से मैचिंग गुलाबी रंग की ब्रा पहन रखी थी। मैंने उनकी पीठ में हाथ डाल दिया और ब्रा निकाल दी। उसके बाद अंजली भाभी उपर से नंगी हो गयी थी। उनकी भरपूर जवानी देखकर मेरी नियत डोल गयी थी। जैसे ही मैंने अपना हाथ अंजली भाभी के मम्मो पर रखा वो “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…आह आह उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ….” बोलकर सिस्कारियां लेने लगी। फिर मैं उसकी जवानी के पीछे पूरी तरह पागल हो गया था। मैं तेज तेज उनके बूब्स को दबाने लगा।

भाभी को भी काफी मजा आ रहा था। वो और तेज तेज सिसकी ले रही थी। उसके बाद मैं अपनी सगी भाभी के उपर लेट गया और उनके बूब्स को मुंह में लेकर चूसने लगा। ओह्ह्ह्ह …..कितनी नर्म नर्म चूचियां थी दोस्तों। ऐसी गुलाबी, खूबसूरत और बड़ी बड़ी चूचियां मैंने आजतक नही देखी थी। मैंने तुरंत ही अंजली भाभी के दाई चूची को मुंह में भर लिया और पीने लगा। मुझे तो जैसे जन्नत मिल गयी थी।मैं मुंह चला चलाकर अपनी भाभी की चूची चूस रहा था। मुझे अभूतपूर्व आनन्द की प्रप्ति हो रही थी। उपर से बारिश की बुँदे मुझे और भाभी को भिगो रही थी। मैंने कभी सपने में नही सोचा था की अपनी भाभी को चोदने का सुनहरा मौका मिल जाएगा। मैंने 10 मिनट तक अंजली भाभी की दाई चूची को चूसा, फिर बायीं चूची को मुंह में भरके चूसने लगा। दोस्तों मुझे सेक्स का नशा चढ़ गया था। 

मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया था। अब मैं जल्दी से अंजली भाभी को चोदना चाहता था। मैं बड़ी बेताबी ने उनकी बायीं चूची को चूस रहा था। अपने हाथ से मैं उनकी दाई चूची को दबा रहा था। दोस्तों आज मेरे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दिन था। आज तो मेरी चुदक्कड़ भाभी ने मुझे खुद अपने दूध पिला दिए थे। मैं उनकी दाई चूची को 15 मिनट तक चूसा। अंजली भाभी “ओहह्ह्ह…ओह्ह्ह्ह आआआअह्हह्हह…अई..अई. .अई… उ उ उ उ उ…” की आवाज लगातार निकालती रही। फिर मैंने उनकी साड़ी खोल दी। बारिश में हम दोनों भीग रहे थे। आज हम देवर भाभी का सेक्स बरसात में होने वाला था। मैंने अंजली भाभी के पेटीकोट का नारा खोल दिया और निकाल दिया। मेरी नजर उनकी पेंटी पर गयी। पैंटी पानी से भीग चुकी थी और चूत से चिपकी हुई थी। भाभी की चूत की बीच वाली दरार तो मुझे उपर से ही दिख रही थी। मैंने अपना हाथ अंजली भाभी की चूत पर पेंटी पर रख दिया और सहलाने लगा। एक बार फिर से वो कसकसा रही थी। कुछ देर तक मैं उनकी पेंटी को सहलाता रहा। अंजली भाभी अपने होठो को दांत से काटने लगी। फिर मैंने पैंटी खीच दी और निकाल दी।

दोस्तों भाभी का मस्त गुलाबी भोसड़ा देखकर तो मेरा होश उड़ गया। उनकी चूत पूरी तरह से चिकनी थी। झांट का एक बाल तक नही था। मैंने धीरे धीरे भाभी की चूत की दरार पर अपनी उँगलियाँ घुमानी शुरू कर दी। अंजली भाभी को बहुत हॉट फिल हो रहा था। फिर मैंने छत पर ही अपने सारे कपड़े निकाल दिए।

“भाभी! भैया तुमसे लौड़ा चुसाते है क्या???” मैंने पूछा

वो कुछ नही बोली। बहुत शरमा रही थी। मैं समझ गया की जरुर मेरे बड़े भैया अंजली भाभी से लौड़ा चुसाते होगे। मैंने भाभी के बगल लेट गया और उनके मुंह में मैंने लंड दे दिया। जो जल्दी जल्दी चूसने लगी। मैं समझ गया की ये प्रैक्टिस तो कई दिनों की लगती है। फिर मैंने अंजली भाभी के चूत को सहलाना शुरू कर दिया था। दोस्तों आज हमारे घर पर कोई नही था और हम देवर भाभी भरपूर ऐश कर रहे थे। धीरे धीरे मेरा लंड 10” का हो रहा था। अंजली भाभी को मैं अनाड़ी समझता था। पर जब उन्होंने मेरे लंड को गोल गोल फेटना शुरू किया तो मैं जान गया की की चुदाई के मनोरंजक खेल में खिलाडी है। जो जल्दी जल्दी मेरे लंड को चूसने लगी और गले में अंदर तक लेकर चूस रही थी। मैं सी सी सी सी.. हा हा हा की आवाज निकाल रहा था। क्यूंकि मुझे बहुत सेक्सी फील हो रहा था। मैंने भाभी के चूत के दाने को सहलाना और घिसना शुरू कर दिया था। जब मैं उनके चूत के दाने को ऊँगली से छेड़ता था अंजली भाभी “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” की आवाज निकालने लग जाती थी।

इस तरह से हम देवर भाभी ने भरपूर मजा लिया। उन्होंने 20 मिनट तक मेरे लंड को जोर जोर से हाथ से फेटा और मुंह में लेकर चूसा। मैंने उनकी चूत में काफी देर तक ऊँगली की। धीरे धीरे अब हम देवर भाभी पूरी तरह से गर्म हो गए थे। अब हम लोगो को सेक्स की सख्त जरूरत थी। मुझे भाभी की चूत चोदनी थी और भाभी को मेरा मोटा लंड खाना था। कुछ देर बाद भाभी बहुत चुदासी हो गयी थी। मैं उनकी चूत में जल्दी जल्दी ऊँगली कर रहा था। उनको बहुत अच्छा लग रहा था। “देवर जी!! ….प्लीस जल्दी से मेरी गर्म में अपना मोटा लौड़ा डाल दो वरना मैं मर जाउंगी!!” अंजली भाभी बोली,,

उनके बाद मजबूरन मुझे उनके मुंह से अपना लंड निकालना पड़ा। मैं भाभी के दोनों पैर खोल दिए। सामने उनकी भरी हुई चूत के दर्शन मुझे हो रहे थे। मैंने बिना देर किये उनकी चूत में अपना लंड हाथ से डाल दिया और फिर चोदने लगा। दोस्तों अंजली भाभी बिलकुल अल्टर चुदासी छिनाल लग रही थी। जैसे ही मैंने उसकी गुलाबी चूत में धक्के मारना शुरू किया जो “…….उई. .उई..उई…….माँ….ओह्ह्ह्ह माँ……अहह्ह्ह्हह…” की आवाजे निकालने लगी। साफ था की उनको खूब मजा आ रहा था मेरा मोटा लंड खाने में। फिर मैं धीरे धीरे उनकी चूत की सेवा शुरू कर दी। ओह्ह्ह गॉड!! उनकी कमर तो बस 30” की थी। पतली और महासेक्सी। मैंने अंजली भाभी की कमर को दोनों हाथों से पकड़ लिया और जल्दी जल्दी उनकी चूत लेने लगा। वो गर्माने लगी। उधर मुझे भी अजीब सा नशा मिल रहा था। जिस भाभी को मैं छुप छुपकर देखा करता था, आज मैं उसकी गुलाबी चूत का भोग रहा था। दोस्तों मेरा लौड़ा जल्दी जल्दी उनकी चूत की गली में फिसल रहा था। मुझे भी बहुत सेक्सी फील हो रहा था। कुछ देर बाद मेरे धक्को की रफ्तार बढ़ गयी थी। अंजली भाभी बार बार अपने होठो को अपने ही दांत से काट रही थी। अपनी रसीली चूचियों को वो खुद ही दबा रही थी। इस तरह से भरपूर सुख वो प्राप्त कर रही थी।

मैंने उनके पतली पेट पर हाथ रख दिया और जल्दी जल्दी सहलाने लगा। मैं अब और तेज तेज उनको पेल रहा था। भाभी “ हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ ….ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी सी… हा हा हा.. ओ हो हो….” गर्म गर्म सिस्कारी छोड़ रही थी। मैं उनकी चुद्दी में जोर जोर के झटके मार रहा था। उनकी चूत को कायदे से फाड़ रहा था। हम दोनों आज जंगल में मंगल कर रहे थे। भाभी चुपचाप बिना किसी बहाने के 20 मिनट तक चुदवाती रही। कुछ देर में मेरा माल निकलने वाला था। अब मैं उनपर लेट गया और उनकी चूची को फिर से चूसने लगा। मेरा लंड तो रुकने का नाम ही नही ले रहा था। बस जल्दी जल्दी अंजली भाभी की गुलाबी चूत को मैं चोद रहा था। 20 मिनट तक मैं उनकी चुद्दी [चूत] में नॉन स्टॉप धक्का दिया। फिर मैंने माल उनकी चूत में ही छोड़ दिया। उसके बाद अंजली भाभी मेरे सीने से लिपट गयी। हम दोनों किसी हसबैंड वाइफ की तरह किस करने लगे। कुछ देर बाद बारिश बंद हो गयी थी। पर सारे गेंहू भीग चुके थे।

“भाभी!! मैं तुम्हारे गेहूं को भीगने से नही बचा पाया” मैंने कहा

“कोई बात नही देवर जी! मुझे आपका मोटा लंड खाने को तो मिल गया” अंजली भाभी बोली

“देवर जी!! आप तो बहुत मस्त चूत चुदाई करते है” भाभी बोली

‘भाभी !! जब तुम्हारा चुदाने का दिल करे, मेरे कमरे में आ जाना। तुमको इतना चोद दूंगा की तुमको जन्नत का मजा मिल जाएगा और तुम्हारी गुलाबी चूत फट जाएगी” मैंने कहा



loading...

और कहानिया

loading...
2 Comments
  1. SATISH KULKARNI
    December 17, 2017 |
  2. December 18, 2017 |

Online porn video at mobile phone


Didi ki shaddi Pi meri seal Tori Hindi sex storyhinde grup sex storyराडी की बुरhindi antarvasna wife se shadi se pahlefamly chdai storybahan ne 15 sal ke bhai se chudai karwai ki kahanibur chodane ka photohindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. kamukta com. antarvasna com/tag/page no 55--89--211--320गुजराति आंटि सेकस कहानिxxx,com मधु फिल्म हिरोईनflatwali se xxx videovideohindsxeerotic sex kahaniya. chudayiki sex kahaniya com/hindi-fonthindi kahani of sexx kamukta.comhindisexstroykahaniyabua sey sex kiya storynew sex hindi story kamuktaWww xnxxx bhookhi aoratmaa ko blickman kare or sexबरसात कि रात मे भाभी चुदाइfaouji vs bahen hindi antervasnaदीदी की चुत के बाल कहानी राज शर्मा gangbangkahani.com/biwiarbia ghar ki chudai kahanimayra bachpan our sex yum storymuslim auraut ki paraye mard se chudai ki kahaniyasex khanaexxxx mama and bhanji dipalisex videos chudai.com se shadi ke chalegixxx cuhudai ful hinde mma or bhn ka gang bangपाकिस्तानी सेक्सी कहानीxxx.Mrtae Sex Store.comchudai kahani hindi menmabetasexhindiChhote bhai ko 36 boobs chusaye hindi sexy story Sexy bra didi punjabi khanicomsexkahanidosti ki badi gaand wali deedi k sath kambal m sone ka mjaMami.bhabhi.mammy.chachi.garam mause .ke chudai hinde storyhindi sex stories/bhudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/tag/page 68-98-158-208-318barish ke dino me biwi or sas ke sath piknic photo ke sath chudai kahani 1 2 3dard me chodo bhaiya xxxsawahta sexshila badi ma ko choda hindi xxx storyxxx sexxy bhabi ko gn dawon chudai kahanisuhagrat hanimonsexSadisuda badi bahan ne chote bai se chudaya xxx kahani hindiबडे दादा ने मेरी चूदाई कीयक.लडका.ओर.यक.लडकी.सेक़सी.कहानीmota lund se chudyi story in hindi देसी गर्ल पलास्टिक लंड से चुदाइ बिडीओantervasana hindi sex storyaunty aur bhabhi ki chut mari x 8 motel unse kahani hindi maiदास की चुदाई कहानीघर में सब ने चोदा 2018सोती बहन को भाई ने नाडा खोल के चोदाईwww xxx doadara skx vediodidi ki maddat se maa bni chudai storyaapne didi ko gair mard se chudate dekha hindi storyकोलापुर चा सेकसी कहानीयामस्त बोबो की मसलाई चूसाई चूदाई xxx.hindi.pati.patni.ka.sam.na.maa.ka.rap.keya.downlodanti ne rat ko bulakar chudya storyहिंदी सैकसी कहानियों जानबरके साथsexy storishxxx adivasi marathi kalpanik kahaniचोदाइ कहानीलडकी पापा की वेटी से चुदाई का विडियो दू।verjan boor sex hindeantr wasnahinde hot khania 4 ugar chodaihindikhanipariwar me chudai ke bhukhe or nange logमोटे लनड से चूदाई रो पडी बीडीओसमुहिक bur चुदाइ mastram की kahaniyachodai ki bhukhi mahila ne gadhe se chudai chut hindi kahanibihari xxx storysexkahane henbexxx.Mrtae Sex Store.comcom.sexs hinde video bhabhi is deryakhet aor dihat ki xxx kahani all hindihindi youtube xnxx bhiwi ko dosto mean batanange hokar hotal me adala badali biwi ke sath xxx bad masti hindi story