मेरी शादी करवा दो




loading...

दिल की कोमल उमंगों को भला कोई पार कर सका है, वो तो बस बढ़ती ही जाती हैं। मैंने भी घुमा फिरा कर माँ को अपनी बात बता दी थी कि मेरी अब अब शादी करवा दो।

माँ तो बस यह कह कर टाल देती… बड़ी बेशरम हो गई है… ऐसी भी क्या जल्दी है?

क्या कहती मैं भला, अब जिसकी चूत में खुजली चले उसे ही पता चलता है ना ! मेरी उमर भी अब चौबीस साल की हो रही थी। मैंने बी एड भी कर लिया था और अब मैंने एक प्राईवेट स्कूल में टीचर की नौकरी भी करती थी। मुझे जो वेतन मिलता था… उससे मेरी हाथ-खर्ची चलती थी और फिर शादी के लिये मैं कुछ ना कुछ खरीद ही ही लेती थी। एक धुंधली सी छवि को मैं अपने पति के रूप में देखा करती थी। पर ये धुंधली सी छवि किसकी थी।

पापा ने सामने का एक कमरा मुझे दे दिया था, जो कि उन्होने वास्तव में किराये के लिये बनाया था। उसका एक दरवाजा बाहर भी खुलता था। मेरी साईड की खिड़की मेरे पड़ोसी के कमरे की ओर खुलती थी। जहाँ मेरी सहेली रजनी और उसका पति विवेक रहते थे। शायद मेरे मन में उसके पति विवेक जैसा ही कोई लड़का छवि के रूप में आता था। शायद मेरे आस-पास वो एक ही लड़का था जो मुझे बार बार देखा करता था सो शायद वही मुझे अच्छा लगने लगा था।

कभी कभी मैं देर रात को अपने घर के बाहर का दरवाजा खोल कर बहुत देर तक कुर्सी पर बैठ कर ठण्डी हवा का आनन्द लिया करती थी। कभी कभी तो मैं अपनी शमीज के ऊपर से अनजाने में अपनी चूत को भी धीरे धीरे घिसने लगती थी, परिणाम स्खलन में ही होता था। फिर मैं दरवाजा बन्द करके सोने चली जाती थी। मुझे नहीं पता था कि विवेक अपने कमरे की लाईट बन्द करके ये सब देखा करता था। मेरी सहेली तो दस बजे ही सो जाती थी।

एक बार रात को जैसे ही सोने के लिये जा रही थी कि विवेक के कमरे की बत्ती जल उठी। मेरा ध्यान बरबस ही उस ओर चला गया। वो चड्डी के ऊपर से अपना लण्ड मसलता हुआ बाथरूम की ओर जा रहा था। मैं अपनी अधखुली खिड़की से चिपक कर खड़ी हो गई। बाथरूम से पहले ही उसने चड्डी में से अपना लण्ड बाहर निकाला और उसे हिलाने लगा। यह देख कर मेरे दिल में जैसे सांप लोट गया, मैंने अपनी चूत धीरे से दबा ली। फिर वो बाथरूम में चला गया। पेशाब करके वो बाहर निकला और उसने अपना लण्ड चड्डी से बाहर निकाला और उसे मुठ्ठ जैसा रगड़ा। फिर उसने जोर से अपने लण्ड को दबाया और चड्डी के अन्दर उसे डाल दिया। उसका खड़ा हुआ लण्ड बहुत मुश्किल से चड्डी में समाया था।

मेरे दिल में, दिमाग में उसके लण्ड की एक तस्वीर सी बैठ गई। मुझसे रहा नहीं गया और मैं धीरे से वहीं बैठ गई। मैंने हौले हौले से अपनी चूत को घिसना आरम्भ कर दिया… अपनी एक अंगुली चूत में घुसा भी दी… मेरी आँखें धीरे धीरे बन्द सी हो गई। कुछ देर तक तो मैं मुठ्ठ मारती रही और फिर मेरी चूत से पानी छूट गया। मेरा स्खलन हो गया था। मैं वहीं नीचे जमीन पर आराम से बैठ गई और दोनो घुटनों के मध्य अपना सर रख दिया। कुछ देर बाद मैं उठी और अपने बिस्तर पर आकर सो गई।

सवेरे मैं तैयार हो कर स्कूल के लिये निकली ही थी कि विवेक घर के बाहर अपनी बाईक पर कहीं जाने की तैयारी कर रहा था।

“कामिनी जी ! स्कूल जा रही हैं?”

“जी हाँ ! पर मैं चली जाऊँगी, बस आने वाली है…”

“बस तो रोज ही आती है, आज चलो मैं ही छोड़ आऊँ… प्लीज चलिये ना…”

मेरे दिल में एक हूक सी उठ गई… भला उसे कैसे मना करती? मुस्करा कर मैंने उसे देखा- देखिये, रास्ते में ना छोड़ देना… मजिल तक पहुँचाइएगा !

मैंने द्विअर्थी डायलॉग बोला… मेरे दिल में एक गुदगुदी सी उठी। मैं उसकी बाईक के पास आ गई।

“ये तो अब आप पर है… कहाँ तक साथ देती हैं!”

“लाईन मार रहे हो?”

वो हंस दिया, मुझे भी हंसी आ गई। मैं उछल कर पीछे बैठ गई। उसने बाईक स्टार्ट की और चल पड़ा। रास्ते में उसने बहुत सी शरारतें की। वो बार बार गाड़ी का ब्रेक मार कर मुझे उससे टकराने का मौका देता। मेरे सीने के उभार उसके कठोर पीठ से टकरा जाते। मुझे रोमांच सा हो उठता था। अगली बार जब उसन ब्रेक लगाया तो मैंने अपने सीने के दोनों उभार उसकी पीठ से चिपका दिये।



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


एडल्ट स्टोरीhindi porn kahani karwa chauth pardesi nanbej sex antrvasana comhindi me batcheet karte huye chaudi videoकहानी वीवी की चूत दैसतो ने मारीxxx sex story ladke ne ek aunti ka dud piyaSEXY CHIKO BARI MAST CHUDAI JABRDAST HINDI KAHANIhindihorrersexkahani.comPadosan rekha ki chudai ki xxx story chudakkad galio vali bahanxxx colleg me dost ki gand marneki nangi hindi kahani xsxi.xxx.mahrathi kahani comLund ki pyasi shadisuda didi ko razi kiyaबहुत गंदी चुदाई की कहानियाँ देसी भाभी कीnew hinde x kaniyaJABARJASATIXXX KAHANIHINDIsamuhik chudai with baba jeeभोली भाली नौकरानी को पटाकर चोदाantrvashna righto me chudai bhin ki msaj ke bhane chudai mrityu ke baad ladaki ki chudai ki kahaniwww bhai bhan xxxx khaniya hindi nituसेकसी सेरी कमnonveg sex storyपहली बार सेक्स वीडियो जवानी लड़कीkamukta.comलेटेस्ट सेक्सी स्टोरी badwap xxx jabrdasti mara maripariwar me sexi hindi kahanido choro ne mshta mujhe chodakamukta.com/devarbhabi videohot collage girl/nokarani/bus me hot ladki ki kahaniदीदी के बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर दीदी की च** और गांड एक साथ मारीdehatisexstroy.comhindi chudaise photo kahniलङकी के साथ जानवर sex stories in hindiजीजा ने शाली कि हुइ हुइ ऩगी सेकस विडियो आबाज करतीMeri pehli jabardsti chudai sex story bhai ko fsa kr behn n chudwayamaa ne chudwaya friends se page storyladki ko ghode ne choda kahanipapane didi aur saheliko chodaकेतकी Sexगांव की भाभी को बरसात के अँधेरे में चोदा सेक्स स्टोरीसेकसी विडीयो हिनदी मौसी की बहुmarathisexstorigbahan ne 15 sal ke bhai se chudai karai ki kahaniराखी भाभी की चूदाई का पौरनsexxx chodna close ckasinchut cutte ne mari hindi khaniबूडि।औरत।कि।चूदाईandhi padosan ki chudaichodi khala kirat me sote samaye bhavi ko devar ne choda xxx videoIndian damdaar sex chudai desi video Ganesh jabardasti chudaixxxhot saxi kesa kheneyapariwar me chudai ke bhukhe or nange logbhanji ne jab 9inch lund dekha hindi merajwep sex vidios 18 yars jabajsti apne dost ke bhehen ko choda sexstory chut land ki ladayi ki in hindisale ki aurat xxx kahaniचुदाई वाल पेपरदेसी गर्ल पलास्टिक लंड से चुदाइ बिडीओpuja garli ki full xxxy kaha ni अपनी माँ की रात मे गाड माराmadam ko jabardasti se gaand ki seal phadta rha aur madam chillati rhi hindi sex kahanikhetmechodaikahanisuhag rat pe bivi ki pyar se chudai kahaniसेकसी सेरी कमxxx kahaneसेक्सी चुदाई की कहानी