सपना भाभी को भोपाल में बहुत चोदा




loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम विकास है और में भिलाई छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूँ. मेरी उम्र 30 साल है और मेरे लंड का साईज़ 6.5 लंबा और 2.5 मोटा है और अब में आप सभी को अपनी कहानी पूरी विस्तार से सुनाता हूँ. दोस्तों में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद में भोपाल में एक कंपनी में नौकरी करने चला गया, वहां पर मुझे एक मेनेजर की नौकरी मिली और हमारा काम सभी कम्पनी के मोबाईल टावर का सिविल का काम और लाईट का साईड पर काम था तो वहां पर पहले से ही बहुत से लोग काम किया करते थे, कुछ राज्य के बाहर और कुछ मेरे राज्य के ही थे तो वहां पर मुझे उन सभी के बीच बहुत इज़्जत मिलती थी, क्योंकि में अपने बॉस का बहुत चहिता था.

दोस्तों वहां पर एक शर्मा जी भी मेरे साथ काम किया करते थे और वो मध्यप्रदेश के मुरेना के रहने वाले थे, उन्होंने अपनी मर्जी से लड़की पसंद करके शादी की थी और उनकी पत्नी गुजरात की रहने वाली थी. दोस्तों मेरी उनसे बहुत कम समय में बहुत अच्छी पहचान हो गई थी, क्योंकि उनका व्यहवार मेरे लिए बहुत अच्छा था और वैसे उनकी शादी को करीब एक साल ही हुआ था. फिर एक दिन उन्होंने मुझे अपनी शादी की सालगिरह में अपने घर पर बुलाया, वैसे वो ज्यादातर अपने ऑफिस के काम से हमेशा बाहर रहते थे, लेकिन वो अपनी शादी की सालगिरह के दिन अपने घर पर ही थे और उन्होंने मुझे अपनी शादी की सालगिरह में जरुर जरुर आने को कहा.

फिर जब मैंने उनकी पत्नी को पहली बार देखा तो में उन्हें देखकर बिल्कुल पागल हो, वाह क्या यार क्या माल थी वो? वो उस दिन साड़ी में थी और उनका फिगर बहुत सेक्सी आकर्षक लग रहा था. फिर में उनके बड़े ही सुंदर गदराए हुए बदन को देखकर उनका दीवाना हो गया और में उन्हें लगातार घूर घूरकर देख रहा था, मेरी नजर बार बार उनकी तरफ जा रही थी.

कुछ देर बाद अपने पूरे होश में आकर मैंने उन दोनों को उनकी शादी की सालगिरह की बधाई दी और उस सेक्सी माल से हाथ भी मिलाया और उनको छूते ही मेरे पूरे शरीर में एक करंट सा दौड़ने लगा और वैसे वो बहुत ही मिलनसार व्यहवार की थी, क्योंकि वो भी मेरी तरफ बहुत प्यार से देख रही थी और मेरा उनको लगातार घूरकर देखना उन्हें बिल्कुल भी बुरा नहीं लग रहा था और वो भी मेरी बातों का मुस्कुराकर जवाब दे रही थी. फिर वो लोग मेरे पास वापस आ गए और मुझसे बातें करने लगे, लेकिन उस दिन तक भाभी के बारे में मेरे दिमाग़ में ऐसी कोई ग़लत भावना नहीं थी. फिर में वहां पर कुछ घंटे रुककर अपने कमरे पर आ गया.

मैंने आप सभी को पहले ही बताया था कि में छत्तीसगढ़ का रहने वाला था तो मेरे परिवार वाले सर्दियों में मेरे पास घूमने आने वाले थे और वो भी पूरे दो महीने के लिए. फिर मैंने एक दिन शर्मा जी को कहा कि यार आप मुझे दो महीने के लिए कोई रूम दिलवा दो. फिर वो मुझसे कहने लगे कि मेरे रूम के पास में एक रूम कुछ दिनों से खाली पड़ा हुआ है और अगर तुम कहो तो में वो रूम तुम्हें दिलवा दूँगा. फिर मैंने उनकी पूरी बात सुनकर तुरंत उन्हें हाँ कह दिया और फिर वो खुद मुझे उनके पास वाला रूम दिलाकर दूसरे ही दिन करीब दो महीने के लिए हमारी कम्पनी के काम से बाहर चले गये. उनके चले जाने के चार दिन बाद ही मेरे परिवार वाले आ गए और वो लोग भाभी से बहुत अच्छी तरह से घुल मिल गये. दोस्तों मुझे माफ़ करना में आप सभी को अपनी सेक्सी भाभी के बारे में बताना ही भूल गया, वो 26 साल की थी और उनके फिगर का साईज 36-32-34 था, उनका नाम सपना था और वो हमेशा मेरे सपनों में आती रहती थी.

दोस्तों उन्होंने मेरे परिवार वालों की घूमने में बहुत मदद की और उस दौरान मेरी उनसे बहुत जमने लगी थी, में उनसे बहुत खुलकर बातें करने लगा था और वो मेरी अधिकतर बातों को समझकर बिल्कुल चुप हो जाती या फिर मुस्कराकर मेरी आखों में देखने लगती और में उनकी इन सभी हरकतों का मतलब अब धीरे धीरे समझने लगा था. अब थोड़ा गर्मी का समय आ गया था और हम लोग भोपाल के पुराने भोपाल में किराए पर रहते थे तो वहां पर हम गर्मी आने पर छत पर सोते थे. फिर एक रात को में भी छत पर सो रहा था तो मुझे रात को करीब 1:30 बजे प्यास लगने लगी, इसलिए में उठकर नीचे चला गया और भाभी के रूम में चला गया और उस समय शर्मा जी बाहर गये हुए थे तो मैंने फ़्रिज़ से पानी निकालकर पिया और फिर छत पर वापस जाने लगा.

तभी मेरी नज़र भाभी पर पड़ी जो उस समय बहुत गहरी नींद में सो रही थी और उनके बूब्स उनकी उस ढीली सी मेक्सी से आधे आधे बाहर निकल रहे थे तो में वो सब देखकर वहीँ पर अचानक से रुक गया और भाभी के उभरते हुए नंगे बूब्स को छूने लगा, लेकिन कुछ देर तक वो बिल्कुल भी नहीं हिली और जब वो उठी तो अचानक से डरकर बैठ गई और फिर वो मुझसे हड़बड़ाहट में बोली कि तुम यह क्या कर रहे हो? फिर मैंने उनके मुहं पर अपना एक हाथ रखकर उनसे बोला कि भाभी चुप रहो वरना सब लोग जाग जाएँगे.

वो कुछ शांत हुई तो फिर में उनसे बोला कि भाभी में आपसे क्या एक बात पूछ सकता हूँ, लेकिन आप मुझे उसका जवाब बिल्कुल सच सच देना? तो वो बोली कि हाँ विकास कहो तुम्हें मुझसे ऐसा क्या पूछना है? फिर मैंने उनसे पूछा कि भाभी शर्मा जी ज्यादातार समय हमारी कम्पनी के काम से बाहर रहते है तो फिर आपकी कभी उनके चले जाने के बाद सेक्स करने की इच्छा नहीं होती क्या? तो वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर करीब दस मिनट तक बिल्कुल चुप रही और बस लगातार मुझे देखती रही और में उनके कुछ बोलने का इंतजार करता रहा. मैंने बहुत इंतजार किया, लेकिन वो अब भी कुछ नहीं बोली और में उन्हें उसे हालत में छोड़कर जाने लगा.

फिर भाभी मुझसे बोली कि रुको विकास और में तुरंत रुक गया. फिर वो मुझसे थोड़ा उदास होकर बोली कि शर्मा जी के अलावा मैंने कभी किसी और के बारे में कुछ नहीं सोचा, लेकिन आज तुमने मुझसे यह सब सवाल पूछकर मेरी सेक्स की इच्छा को और भी बड़ा दिया है और जिसको में अब तक अपने ऊपर कंट्रोल करके बैठी हुई थी, में हमेशा अपने पति के आने पर उनके साथ बहुत खुश रहती हूँ, लेकिन उनके बाहर चले जाने पर में अपने आपको बहुत अकेला महसूस करती हूँ और में अपनी सेक्स की आग से अंदर ही अंदर जलती रहती हूँ, लेकिन मैंने अब तक किसी को भी अपने मन की बात नहीं बताई. में हमेशा बिल्कुल शांत रही और उस आग में जलती रही तड़पती रही.

दोस्तों में उसकी बात जैसे ही खत्म हुई तुरंत उससे बोला कि सपना में हूँ ना तुम्हारे पास, तुम्हारी सभी इच्छा को पूरा करने के लिए, तुम क्यों इतना परेशान होती हो और में तुम्हें बहुत प्यार करूंगा.

भाभी बोली कि हाँ तो अब जल्दी से आ जाओ और में उनके होंठो पर किस करने लगा. करीब 15 मिनट तक हमने लगातार एक दूसरे को किस किया और कुछ देर बाद भाभी मुझसे थोड़ा दूर हटकर बोली कि अभी बस इतना ही बाकि जब कोई नहीं होगा तब हम करेंगे और में वहां से चला गया और छत पर जाकर भाभी के बारे में सोच सोचकर ना जाने कब सो गया.

दोस्तों उसके बाद दूसरे दिन से हमारे बीच हंसी मजाक कुछ ज्यादा ही होने लगा, में हर कभी सही मौका देखकर भाभी को छेड़ दिया करता और उनके बूब्स को दबा देता, लेकिन भाभी मुझसे कुछ नहीं कहती बस मुस्कुराकर मुझे देखा करती और हंस हंसकर मुझसे बातें करती तो में हर कभी उन्हें किस करता और बहुत मज़े करता.

फिर कुछ दिन के बाद मेरे घर वाले वापस आ गये और में उनको स्टेशन छोड़कर वापस अपने कमरे पर आ गया और फिर थोड़ा सा थके होने की वजह से में खाना खाकर सोने चला गया, लेकिन मेरी इच्छा अब भी भाभी को चोदने की थी, लेकिन उस समय उनके घर पर कोई मेहमान आया हुआ था तो में सो गया. फिर रात को करीब एक बजे किसी ने मेरे कमरे का दरवाजा बजाया और मैंने जब उठकर देखा तो बाहर दरवाजे पर भाभी खड़ी हुई थी, वो मुझसे बोली कि क्यों सो गये क्या?

मैंने कहा कि नहीं बस ऐसे ही लेटा हुआ था. फिर वो मुझसे बोली कि आ जाओ आज तुम्हारी जितनी इच्छा है उसे मुझे चोदकर पूरा कर लो, में उनकी बात को सुनकर तुरंत समझ गया कि आज भाभी को मुझसे अपनी चुदाई करवानी है और में जल्दी से उनके साथ उनके कमरे में चला गया और अंदर जाते ही मैंने उनको पीछे से तुरंत पकड़ लिया और उनको किस करने लगा तो वो भी मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी. फिर में उनसे कहने लगा कि भाभी आज तेरी चूत को फाड़ दूँगा, में आज तेरी चूत को चोद चोदकर भोसड़ा बना दूंगा और तुम्हें मेरी चुदाई से बहुत खुश कर दूंगा और इस प्यासी तड़पती हुई चूत को बिल्कुल शांत कर दूंगा.

फिर वो मुझसे बोली कि हाँ मेरे राजा आज तू मुझे चोद चोदकर अपनी रंडी बना ले, मेरी चूत को वो सुख दे जिसके लिए में इतने दिनों से बैचेन हूँ क्योंकि तेरा भाई तो नामर्द है वो आज तक मुझे ठीक से चोद भी नहीं पाया है, लेकिन आज से में तेरी रंडी बन कर रहूंगी, तू मुझे हर कभी रात दिन चोद सकता है, में तुझसे कभी भी ना नहीं कहूंगी, लेकिन प्लीज अब जल्दी से मुझे चोद दे मुझे और ना तरसा. दोस्तों अब में उनको होंठो पर किस करने लगा और साथ साथ उनके ब्लाउज को उतारने लगा उसके बाद अपने एक हाथ से में उनके बूब्स को दबाने लगा और दूसरे हाथ से उनकी गांड को दबाने लगा तो वो मुझसे कहने लगी कि तू कितना सेक्सी है विकास, आज तू मुझे जी भरकर चोद और आज मुझे जन्नत दिखा दे.

मैंने एक ज़ोर का झटका देकर उनकी ब्रा को खींचकर उतार दिया और उनके एक बूब्स को चूसने तो दूसरे को दबाने, निचोड़ने लगा जिसकी वजह से वो वो भी पूरी तरह जोश में आकर मोन करने के साथ साथ मेरे सर को पकड़कर अपने बूब्स पर दबाने लगी और मुझसे कहने लगी कि हाँ उह्ह्ह्हह्ह आज इन्हें खा जाओ मेरे राजा आज से में तेरी रंडी हूँ आह्ह्हह्ह तू जब भी मुझसे बोलेगा में तुझसे चुदवाने को तैयार रहूंगी.

अब मैंने उनके पेटीकोट को खोल दिया और मैंने देखा कि भाभी ने अंदर पेंटी नहीं पहनी थी और उनकी चूत एकदम साफ थी. में उनकी चिकनी चमकती हुई चूत में उंगली करने लगा और वो मेरे लंड को हाथ में पकड़कर सहलाने लगी, मुझे बड़ा अच्छा लगने लगा. फिर कुछ देर बाद मैंने उनसे कहा कि भाभी मेरा लंड अपने मुहं में लो ना, वो तुरंत बोली कि में कब से इसे मुहं में लेने को उत्सुक होकर बैठी थी. मैंने बोला कि हाँ तो जल्दी से लो ना मेरी जान.

अब वो झट से नीचे अपने घुटनों के बल बैठकर मेरे लंड को धीरे धीरे अपने मुहं में लेने लगी और मेरी गोलियों के साथ खेलने लगी दोस्तों मेरा लंड थोड़ा मोटा और लंबा है इसलिए उसे पूरा अंदर लेने में बहुत मेहनत करनी पड़ रही थी, लेकिन उसने हार नहीं मानी और वो लगातार धीरे धीरे मेरे लंड को आगे पीछे करती रही और लोलीपोप की तरह चूसती रही.

फिर कुछ देर बाद में उससे बोला कि सपना अब ऊपर आओ में तुम्हारी चूत को चूसता चाटता हूँ, वो अब भी मेरा लंड चूस रही थी और हम 69 पोजीशन में आ गये और करीब 20 मिनट तक हम 69 पोजीशन में रहे. अब भाभी मुझसे बोली कि विकास अब मुझसे रहा नहीं जाता, तू फाड़ दे मेरी चूत को, आज से में तेरी रंडी बनकर रहूंगी, अब थोड़ा जल्दी से चोद मुझे मादरचोद, मुझे और ना तड़पा.

अब मैंने भाभी को सीधा लेटाकर उनकी चूत के मुहं पर अपना लंड रख दिया और फिर मैंने एक ज़ोर का धक्का लगा दिया, जिसकी वजह से मेरा आधा लंड भाभी की चूत में फिसलता हुआ अंदर चला गया और वो दर्द से चिल्लाने लगी, उह्ह्ह्हह् आईईईइ प्लीज बाहर निकालो अपना लंड उफफ्फ्फ्फ़ में मर जाउंगी स्सीईईइ प्लीज इसे बाहर करो, मुझे उईईईइ माँ बहुत दर्द हो रहा है, वो उस दर्द से बिन पानी की मछली की तरह तड़पने लगी, लेकिन मैंने उनकी एक भी बात नहीं सुनी और ना ही अपने लंड को बाहर निकाला.

दोस्तों वो वैसे ही चीखती, चिल्लाती रही और कुछ देर रुकने के बाद मैंने उनके होंठो पर अपने होंठो को रखकर उनको चूमते हुए सही मौका देखकर अपना दूसरा धक्का लगा दिया, जिसकी वजह से मेरा पूरा लंड उनकी चूत की गहराईयों में चला गया और उनकी आँखो से आंसू बाहर आने लगे थे और में कुछ देर रुकने के बाद धीरे धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा.

अब उनको भी थोड़ा मज़ा आने लगा और वो मुझसे बोली कि हाँ चोद मेरे राजा और ज़ोर से चोद उह्ह्हह्ह्ह्ह आज से में तेरी रंडी हूँ, तू जब चाहे तब मुझे चोदना, हाँ थोड़ा और अंदर डाल उह्ह्ह्ह जाने दे इसे पूरा अंदर और में लगातार धक्के लगाता रहा और पूरे कमरे में सिर्फ़ मेरे धक्कों से हमारे जिस्म के टकराने वाली आवाज आने लगी, फच फच फच और कुछ देर के धक्कों के बाद वो अब अकड़ने लगी और फिर वो झड़ गई, लेकिन मेरा नहीं हुआ था तो में अब भी धक्के देकर चोदता रहा. फिर में भी 15-20 धक्कों के बाद उनकी चूत के अंदर ही झड़ गया. मुझे उनके चेहरे से संतुष्टि साफ साफ नजर आ रही थी और वो मेरी चुदाई से बहुत खुश थी. दोस्तों उस रात को मैंने उन्हें रुक रुककर करीब चार बार चोदा. फिर हम सो गये. दोस्तों मैंने उन्हें इस तरह से उनका पति बनकर करीब एक साल तक रोज हर कभी चोदा और आज वो मेरे दो बच्चों की माँ बन गई, लेकिन उसके पति को आज तक नहीं पता कि उनके बच्चों का बाप में हूँ.



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


kamukta bhai aur behan ko train me 4ladko nekahani zabardasti teacher चुद गई सहेलीbehan ki naghi chut hindi sexn storymastram sex stories in hindihanimoon pr kiya jamkr sex khani in hindixxx.com.hindi.chudai.kahani.bhopalXxx desi kasmkas jawani image शहर की औरत की चूदाई काहानीयाxxx khani hinde meantrwsana potos.comबूढ़ी बुआ बेटे का सेक्स कहानी दिखाईbur ke cdae ke khanexxx com सोटा लडका देखे चुदाई कोsexkahaninewhindisax ki devi bhabhi ko paregnent krne ki new saxy kahaniantrvasnaxxx. sexy. store. comSex story gunda or maasum ladki kanon veg hindi sex storymaa ki jabardasti chudayi ki hindi writing sexy story by hindi stories.comgandhi sex khaniya vigara khila kar bhai behn hindi me मेरी ब्लू फिल्म बनी sex storiesfree chut bulla kahani pakistanisuman bhabhi ne chudai karayi aur garbhwati hui in hindi storyhindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/tag/page 69--98--156--222---320six story in hind risto m chuadihot.heron.ki.chudai.photosasur De O Raba ki Khet Mein Chudai Hindi mein likhi huibiwi ko choda group me gangbang xxx sex storiesbhikhari se seal tudwai hindi sex kahani antarvasnarinki repe xxx kahanienglish. sex. kanu. hnid. mahindsexykahaniAunte xxx kahane.comCugai Ki khani hindiantervasna khaniyaचूदाई की कहानीbaba hindi xxx family kahanimastram sax storyXxx kahani dosat ki bahan ke cheda hindi meHot kahaniya Nepali didi bhai budda se chudai didi ki adla badli antarvasna.comkamuhta.com blatlkar me pahli chudaisuagrat.jija.kala.lundलडकियो की चुत मे लाड कहानीबुर छुड़ाया दुकान मेंhindi sex stories/bhudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/tag/page 68-98-158-208-318Freestorybhabhix videos Japani sasur ne sil thodaindan ma bata xxx kahanesexy hindi kahani parti me mila negro ka land marai gandXX कहानियां ओरिजिनल इंडियन पढ़ने के लिएबुआ से नदी में सेक्स हिंदी मेंsex se dard hindi kahani ladka ladki ki funcked may apna loda daal ke kapade uttar ke karne wala hot sexछोटी बहू पराये मरद सेकसीjavan bhatije ne aunty ko choda real xxx. comindian muslim chudai kahani.kamukta.comबी ऐफ गदी गदी चूत लडलड़की सोते हुए कूट क्यों रगडती हmamy sex dog kamokta.comx videobhan aur bhaiki repचचेरी बहन को खेल खेल में चोद दियाभाई ने बहन कि चुत मारी कि फोटोsexxxxnindinewdesikahaniyan combacha bada tha jo apni mummy ki chudai dekhi kahani in Hindijbrdsti chachi ko gali de kr choda khaniनस की सेकसी चूदाई कहानी hindhimomsunsexxn xxx home rape khaniyaकामुकता भाई के साथदीदी ने मुझे अपना पति बनाकर कीBHEN KI NANGI PEETसेक्सी मजेदार कहानी कोम्hindi fukingstorebhabhi devaraka xxxxx videomasexkahaniyaxxxsexy.bhive chudaysexy balatkar kamukta storiesबुर फाड़ दिया अपने लंड सेMY BHABHI .COM hidi sexkhanexxxपडोसन चुदी रातमे xxxpdosi kirayedar ki biwi ko choda sexy storyin hindiहॉट बॉस की बीवी की मस्त छोड़ि गण्ड कहानीनींद में दीदी को चोदाsexkahaniसारा जाब चोर कामॅ सेक्सsix khani hindi menanad ki saadi ne budhon se chudwayaहिन्दी भाषा मे चोदो चोदो बोलने भाई बहन का विडिओमराठि सेकस कहानिजब मैने जवानी मे कदम रखा उस वक्त की सैकसी कहानीkya sage bhai se chudwana chahieससुर ने अपने विधवा बहु को चोद कर मा बना दिया